पंकज त्रिपाठी ने फाइव स्टार होटल से चुराई मनोज बाजपेई की चप्पल, इमोशनल कर देना वाला हैं यह किस्सा

पंकज त्रिपाठी एक बहुत ही गज़ब के भारतीय अभिनेता है जो हिंदी फिल्मों में नजर आते हैं। उन्होंने बॉलीवुड के रखना कदम 2004 में छोटे-मोटे किरदारों से किया, और तब से 520 से अधिक फिल्में और 65 टेलीविजन शो में काम कर चुके हैं। पंकज त्रिपाठी एक राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार , एक फिल्मफेयर पुरस्कार , एक स्क्रीन पुरस्कार और एक आईफा पुरस्कार सहित कई पुरस्कारों के प्राप्तकर्ता भी हैं । जब भारत देसी में किसी भी वर्सेटाइल अभिनेता की बात करें,तो पंकज त्रिपाठी का नाम इस सूची में सबसे पहले आता है। उन्होंने अपने अभिनय से लोगों को अपना दीवाना बना दिया है। उनके फैंस पूरे देश भर ने भरे हुए हैं। पंकज त्रिपाठी के जीवन से जुड़ी एक कहानी आजकल खूब वायरल हो रही है। तो आइए हम आपको उस कहानी के बारे में बताते हैं।

 

फिल्मों में आने से पहले होटल में करते थे पंकज त्रिपाठी काम

मनोज बाजपेई और पंकज त्रिपाठी जब एक साथ कपिल शर्मा शो में आए थे तब उन्होंने एक किस्सा सुनाया था उसे सुनकर आप लोग हैरान रह जाएंगे। फिल्मों में एक्टिंग करने से पहले पंकज त्रिपाठी पटना के मौर्या होटल में काम करते थे। इस दौरान अभिनेता मनोज बाजपेई उस होटल में कुछ समय रुकने के लिए आए थे। उस दौरान ही मनोज बाजपेई अपनी चप्पल उस होटल में ही भूल गए थे, तभी पंकज त्रिपाठी ने इस होटल के स्टाफ से मिन्नते कर वह चप्पल खुद ही रख ली।

ऐसे चुराई थी मनोज बाजपेई की चप्पल

द कपिल शर्मा शो के दौरान मनोज बाजपाई संग आए पंकज त्रिपाठी ने इस किस्से का जिक्र किया था और यह भी बताया था की उन्होंने मनोज बाजपेई की चप्पल किस वजह से चुराई। उन्होंने कहा की, “मैं उस समय मौर्या होटल में किचन सुपरवाइजर था। मुझे एक कॉल आया कि मनोज बाजपेयी आए हैं। किचन में लोगों को पता था कि मैं थिएटर करत था तो उन्होंने बताया कि मनोज बाजपेयी आए हैं, तो मैं उनसे मिलने गया। मैंने बताया भैइया मैं थिएटर करता हूं, पैर छूए फिर में निकल गया। अगले दिन मुझे पता चला कि वह अपनी हवाई चप्पल भूल गए। मैंने हाइस कीपिंग से कहा कि इसे जमा मत करना मुझे दे दो, एकलव्य के तरह अगर मैं इनके खड़ाऊं में अपना पैर ही डाल लूंगा तो शायद मेरा उद्धार हो जाए।”

संघर्ष से पूर्ण रहा पंकज त्रिपाठी का बॉलीवुड तक का सफर

पंकज त्रिपाठी का फिल्मी सफर इतना भी आसान नही रहा है, एक होटल में काम करने से लेकर बॉलीवुड के एक इतने बड़े अभिनेता बनने के लिए उन्हें कईं संघर्षों से गुजरना पड़ा। उन्होंने बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने के लिए उन्हें बहुत संघर्ष और कठिन परिस्थितियों से गुजरना पड़ा, और अंततः, बतौर अभिनेता उनके पहचान मिले ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ और ‘मिर्ज़ापुर’ नामक वेब सीरीज से। मिर्ज़ापुर में उनका ‘कालीन भैया’ का किरदार आज भी बहुत ही प्रसिद्ध है।

+