विद्या बालन भूली शरम लिहाज, कारण के शो में बता दिया उन्हें बिस्तर पर खुश करने का राज।

विद्या बालन बॉलीवुड की एक बहुत ही जानी-मानी एक्ट्रेस हैं जिन्हें कोई भी पहचान की जरूरत नहीं है आपको बता दें कि बॉलीवुड में काम करते हुए विद्या को एक लंबा अरसा हो चुका है और इस लंबे अरसे में विद्या बालन ने कई फिल्मों में काम किया है साथ ही साथ विद्या बालन डांस भी बेहद बढ़िया करती है जिसके चलते उन्होंने कुछ गानों में भी अपने डांस का प्रदर्शन किया है जिसकी वजह से उन्होंने लोगों से खूब प्रशंसा भी पाई है आज इस आर्टिकल में हम आपको विद्या बालन के एक बयान के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके चलते वह वायरल हो रही हैं।

विद्या ने बता दिया उनको बिस्तर पर खुश रखने का राज।

कहा जाता है कि विद्या से आप कुछ भी सवाल कर लो वे बेबाकी से उसका जवाब देंगी ही। जब करण जौहर के शो में वे पहुंची तो यहां भी उनका यही अंदाज दिखा। उन्होंने यहां अपने निजी और प्रोफेशनल जीवन के बारे में बात करने के अलावा बेडरूम सीक्रेट से जुड़े सवालों के भी जवाब दिए। करण जौहर ने विद्या बालन से सवाल करते हुए पूछा था कि उन्हें बेडरूम के किस तरह की लाइटिंग पसंद है चकाचोंध भरी या एक दम अंधेरा? विद्या बालन ने इसका जवाब देते हुए कहा कि उन्हें बैडरूम में मद्धम रोशनी रखना पसंद है।

 

इसके बाद करण ने पूछा उन्हें बेडरूम में सबसे ज़्यादा क्या पसंद है कैंडिल या म्यूजिक ? इस पर विद्या बालन का जवाब था कि उन्हें दोनों पसन्द है। वहीं बेडशीट के सवाल पर विद्या ने जवाब दिया कि उन्हें कॉटन की बेडशीट पसंद है। इसके साथ ही विद्या बालन से करण जौहर ने बेहद ही निजी सवाल करते हुए पूछा कि हमबिस्तर होने के बाद उन्हें क्या करना पसंद है चॉकलेट खाना, ग्रीन टी पीना या फिर एक और राउंड के लिए तैयार होना। इस पर विद्या बालन मजेदार जवाब देते हुए कहती है कि सबंध बनाने के बाद उन्हें पानी पीना पसंद है। क्योंकि प्यास बुझाते बुझाते उन्हें खुद प्यास लगने लगे जाती है। विद्या बालन ने यहां हर सवाल के जवाब बेबाकी से दिए।

 

गौरतलब है कि अभी तक के अभिनय जगत में विद्या बालन ने कई तरह के कैरेक्टर किये हैं। उनके किरदारा अलग-अलग जोनर के होते हैं। मगर दर्शको को जिस किरदारा ने सबसे ज़्यादा दीवाना बनाया वो डर्टी पिक्चर का किरदार है। इस फ़िल्म में सिल्क का किरदार ले कर पर्दे के सामने आई विद्या बालन ने कई लोगों की रातों की नींद उड़ा दी। उससे पहले आकर्षण के जो मायने लोगों के जहन में थे वो सब हट गए थे। यही वजह थी कि यह फ़िल्म उस दौरान जबरदस्त साबित हुई थी।

+