राजस्थान की इन पांचों बहनों ने कर दिखाया कमाल और बता दिया पूरे समाज को लड़कियां किसी से कम नहीं।

जब भी किसी के घर में लड़की पैदा होती है तो लोग कहते हैं कि हमारे घर में लक्ष्मी आई है तो वहीं कुछ लोग लड़कियों को पराया धन भी मानते हैं, लेकिन यह बात भी किसी से छुपी नहीं है कि हमारे समाज में कुछ ऐसी भी विचार धाराएं हैं जो लड़कियों को एक बोझ की तरह मानती हैं और लड़की के बाप को बताया जाता है कि अब तुम्हारे घर पर लड़की हुई है तो तुम्हारे ऊपर एक बोझ आ गया है जिसके चलते कुछ लोग या तो लड़कियों को पैदा होते ही मार देते हैं वरना कुछ लोग जिनको पहले ही पता चल जाता है कि मां के पेट में एक लड़की है तो वह उसको पेट में ही मार देते हैं।

 

आज की कहानी एक राजस्थान के गांव की कहानी है जिसमें एक ही परिवार की पांच बहनों ने सरकारी परीक्षा में पास होकर अपनी सरकारी नौकरी लगवाई और दो और पूरे परिवार के साथ पूरे गांव का भी नाम रोशन किया आप हमारे साथ आगे तक इस आर्टिकल में बने रहिए और हम आपको बताएंगे इन पांचों बहनों की कहानी।

 

राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के एक छोटे से गांव की 5 बहनों में से 2 बहन रोमा तथा मंजू प्रशासनिक सेवा की परीक्षा में बैठी। जिसमे से मंजू का चयन वर्ष 2012 में राज्य प्रशासनिक सेवा ने सहकारिता विभाग में हुआ। तथा बड़ी बहन रोमा का चयन एक वीडियो के बीडीओ रूप में हुआ था 2011 में, और अब शेष तीन बहने अंशु, रितु, सुमन का भी चयन एक साथ आरएएस (RAS) में हुआ है। बता दें कि, पांचों बहनो ने अपनी शुरुआती शिक्षा अपने गांव के सरकारी स्कूल से हासिल की। उसके बाद उनके माता-पिता ने उनकी आगे की शिक्षा शहर के प्राइवेट स्कूल से करवाई। राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के रावतसर तहसील क्षेत्र के गांव भेरूसरी के रहने वाले।

क्या बोला बहनों ने सफल होने के बाद

यह पांचों बहने एक किसान की बेटी थी और जब इन से बात करी गई तो रोमा ने बताया कि उनकी शुरुआती शिक्षा गांव के ही एक सरकारी स्कूल में हुई थी जिसके बाद उनके पिताजी ने उनको शहर भेज दिया था आगे की शिक्षा पूरी करने के लिए जिसके चलते गांव वालों ने उनके ऊपर काफी ज्यादा ताने भी कहे थे मगर फिर भी उनके पिताजी ने किसी की नहीं सुनी और अपनी पांच बेटियों को शहर पढ़ने भेजा।

 

पांचों बेटियों ने कई सालों का परिश्रम और मेहनत करी जिसके बाद उनको फल मिला है, दोनों बड़ी बेटी तो पहले से ही अफसर थी लेकिन ये तीन बहने अंशु, रितु, सुमन ने मंगलवार को जारी आरएएस-2018 की परीक्षा में एक साथ सफलता हासिल की। अब पांचों बेटियों को अफसर बनने के बाद।

+