उत्तराखंड के गांव में पहुंची शाहिद प्रदीप रावत का शव, पूरे गांव में है गम का माहौल, लोगों ने भी नम आंखों से विदाई

बेरी दुखद खबर आ रही है उत्तराखंड के देवप्रयाग से एक बहुत ही ज्यादा दिल दहला देने वाली जहां पर देव भूमि का एक और लाल अपना फर्ज निभाते निभाते देश के लिए कुर्बान हो गया जानकारी के अनुसार गढ़वाल राइफल 10 में तैनात प्रदीप रावत ड्यूटी के दौरान देश के लिए शहीद हो गए उनकी हर शहादत शहादत जाया नहीं जाएगी उत्तराखंड के हजारों नौजवान आज देश की सेवा करने के लिए तैयार हैं और मर मिटने को तैयार हैं जिनके पार्थिव शरीर को आज पैतृक गांव लाया गया और उन्हें पूरे सेना सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई शहीद के अंतिम दर्शन के लिए पूरे गांव के भीड़ उमड़ पड़ी और सब ने नम आंखों के साथ उन्हें विदाई दी।

बता दें शहीद प्रदीप रावत मूल रूप से देवप्रयाग विधानसभा के मूल्यगांव निवासी हैं जो कि गढ़वाल राइफल में देश की सीमा पर तैनात थे और ड्यूटी के दौरान देश के लिए वीरगति को प्राप्त हो गए है। जहां पर ग्रामीणों द्वारा शहीद प्रदीप रावत को नम आंखों से भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी गयी।

+