बॉलीवुड और टेलीविज़न इंडस्ट्री में शौक की लहर नहीं रहे ‘अनुपम’।

टेलीविजन सीरियल प्रतिज्ञा में सज्जन सिंह के किरदार को अनुपम ने मानो जिंदा कर दिया था। कलाकार भले ही दुनिया से रुकसत हो जाए उसकी कला सदियों तक लोगों के जहन में जिंदा रहती है। ऐसे ही कलाकार थे अनुपम श्याम ओझा। लेकिन नियती को कुछ और ही मंजूर था। बीते रविवार को 63 साल की उम्र में मुंबई के एक अस्पताल में उनका निधन हो गया। पिछले काफी समय से वो किडनी की समस्या से पीड़ित थे। पिछली बार इलाज के बाद उनका स्वास्थ्य अच्छा हो गया था।फिल्म निर्माता अशोक पंडित ट्विटर पर लिखा कि एक बेहतरीन अभिनेता और एक महान इंसान अनुपम श्याम के कई अंगों की विफलता के कारण निधन के बारे में जानकर दु:ख हुआ। उनके परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। फिल्म और टीवी उद्योग के लिए यह एक बड़ी क्षति है।

इंडस्ट्री के लोगो को लगाई थी गुहार

बीमारी के कारण उनकी फैमिली ने एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के लोगों से उनके इलाज के लिए मदद की गुहार भी लगाई थी, जिसके बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ आगे आए और उनके इलाज की जिम्मेदारी उठाई । लेकिन इलाज के दौरान ही अनुपम चल बसे। और वो निरंतर डायलिसिस के बाद एक बार फिर काम पर वापस आ गए थे। लेकिन मल्टीपल ऑर्गन फेल होने के कारण उन्हें अस्पताल में दोबारा भर्ती कराया गया जहां से सिर्फ उनकी मौत की खबर ही बाहर निकली। दिग्गज अभिनेता के जाने से पूरे इंडस्ट्री में शोक की लहर है।

विदेश में काम कर भी जताया अपना लोहा

साल 2008 में आई स्लमडॉग मिलेनियर जैसी फिल्म में भी अनुपम ने अपनी अमिट छाप छोड़ी। इसके अलावा उन्होंने कई अंतरराष्ट्रीय फिल्मों में काम किया। फिल्म बैंडिट क्वीन में उनकी अदाकारी देखते ही बनती थी। अनुपम श्याम ने सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विदेश में भी अपने काम का लोहा मनवाया था।बीमारी के कारण उनकी फैमिली ने एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के लोगों से उनके इलाज के लिए मदद की गुहार भी लगाई थी, जिसके बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ आगे आए और उनके इलाज की जिम्मेदारी उठाई । लेकिन इलाज के दौरान ही अनुपम चल बसे।

+