हरियाणा के युवाओं को मिलेंगी बंपर नौकरियां हिसार में बन रहा है 946 करोड रुपए की धनराशि से अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा।

हिसार अंतरराष्ट्रीय स्तर के हवाई अड्डे का निर्माण हो रहा है जो कि पूरे राज्य के लिए ही नहीं बल्कि पूरे उत्तरी भारत के लिए एक हर्ष का विषय है और एक बहुत ही महत्व काशी प्रोजेक्ट भी है, इस ड्रीम प्रोजेक्ट को धरातल पर उतारने के लिए हरियाणा सरकार महाराजा अग्रसेन अंतरराष्ट्रीय हिसार हवाई अड्डे के निर्माण कार्यों के लिए 946 करोड़ रूपये की राशि खर्च करेगी। आवंटित धन राशि को दूसरे फेज में चल रहे हवाई अड्डे के निर्माण कार्यों को पूरा करने के लिए अलग-अलग मदों में खर्च किया जाएगा। 

 

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि महाराजा अग्रसेन का बसाया गया अग्रोहा नगर हिसार से महज 20 किलोमीटर दूरी पर है और अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के नामकरण से अब अग्रोहा को भी अंतरराष्ट्रीय पहचान मिलेगी। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आवंटित धनराशि का प्रयोग आगामी तीन वर्षों के दौरान किया जाएगा। उन्होंने कहा है कि ने कहा कि प्रदेश वासियों के लिए गौरव की बात है कि हिसार हवाई अड्डे का नामकरण हरियाणा सरकार ने महाराजा अग्रसेन के नाम पर किया गया है।

 

इंटीग्रेटेड एविएशन हब के रूप में विकसित किए जा रहे हिसार हवाई अड्डे के निर्माण कायों के दूसरे चरण में रायपुर के समीप यात्री लाईन के अलावा कार्गो रेलवे लाइन का निर्माण भी शामिल है।प्रदेश वासियों के लिए गौरव की बात है।

 

दुष्यंत ने बताया कि रनवे, टैक्सीवे व ऐप्रन को बनाने के लिए लोक निर्माण विभाग द्वारा जारी किए गए 164 करोड़ रुपये के टेंडर का 15 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है और रनवे का खुदाई कार्य व इस पर मिट्टी डालने का काम 75 से 90 प्रतिशत तक पूरा हो चुका है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि गांव तलवंडी राणा-धांसू-मिर्जापुर व हिसार को जोड़ने वाली सड़क का चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण कर दिया गया है ताकि तलवंडी राणा-हिसार रोड बंद होने पर इसे वैकल्पिक रोड के रूप में इस्तेमाल किया जा सका।

 

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हवाई अड्डे के निर्माण के लिए सरकारी जमीन पर 7200 एकड़ जमीन की व्यवस्था की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि हिसार में 4200 एकड़ जमीन नागरिक उड्डयन विभाग के पास आ चुकी है और शेष तीन हजार एकड़ भूमि के हस्तांतरण की प्रक्रिया तेजी पर है।

+