600 साल बाद घर में हुआ बेटी का जन्म, बेटी के लिए चांद पर खरीदी जमीन, दिया बर्थडे गिफ्ट !

बेटी आस्था भारद्वाज के 10वें जन्मदिन पर यह नायाब तोहफा देते हुए डॉक्टर सुरबिंदर झा और डॉक्टर सुधा झा ने कहा कि चांद पर एक एकड़ जमीन की रजिस्ट्री कराई है जो आज बेटी के जन्मदिन पर उपहार के रूप में उसे दिये हैं. डॉक्टर दंपति झंझारपुर नगर पंचायत में स्थित एक निजी नर्सिंग होम में काम करते हैं |

टियां अब बोझ नहीं, बल्कि अभिमान हैं. बेटियां खुशियों का भंडार हैं. इस बात को सिद्ध कर दिखाया है मधुबनी जिले के रहने वाले एक डांक्टर दंपति ने. डॉक्टर माता-पिता ने अपनी बेटी के जन्मदिन पर तोहफे के रूप में उसे चांद पर जमीन खरीद कर दिया है |

बेटी के दसवें जन्मदिन पर दिया ये अनोखा तोहफा 


बेटी आस्था भारद्वाज के 10वें जन्मदिन पर यह नायाब तोहफा देते हुए डॉक्टर सुरबिंदर झा और डॉक्टर सुधा झा ने कहा कि चांद पर एक एकड़ जमीन की रजिस्ट्री कराई है जो आज बेटी के जन्मदिन पर उपहार के रूप में उसे दिये हैं. पांचवीं कक्षा की छात्रा आस्था भारद्वाज को यह अनोखा गिफ्ट उसके माता-पिता ने दिया है. डॉक्टर दंपति झंझारपुर नगर पंचायत में स्थित एक निजी नर्सिंग होम में काम करते हैं |

आस्था इस परिवार की पहली बेटी 

डॉक्टर सुरबिंदर झा ने बताया कि आस्था इस परिवार की पहली बिटिया है. चांद पर जमीन खरीदने के लिये अमेरिका के कैलिफोर्निया की एक एजेंसी लूना सोसाइटी का पता लगा. फिर उसके माध्यम से जमीन खरीदी गयी. इस प्रक्रिया में करीब डेढ़ वर्ष लग गए. रजिस्ट्री पेपर के साथ चांद पर कभी जाने के लिए एयर टिकट भी उपलब्ध कराया गया है. टिकट को बेटी जब चाहे उपयोग में ला सकती है |

+