‘अखंड साम्राज्य राजयोग’ बनने से इन 3 राशि वालों की चमक सकती है किस्मत, शनि देव की रहेगी विशेष कृपा

ज्योतिष के अनुसार प्रत्येक ग्रह एक निश्चित अवधि में गोचर करता है। वहीं ये ग्रह समय-समय पर वक्री और वक्री होते रहते हैं। आपको बता दें कि शनि जुलाई में मकर राशि में वक्री था और अब वह अक्टूबर में गोचर करने जा रहा है। वहीं शनि देव ‘अखंड इम्पेरिशी राजयोग’ भी बना रहे हैं। जिसका प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा। लेकिन 3 राशियां ऐसी हैं जिनकी शनि की दृष्टि फायदेमंद साबित हो सकती है। आइए जानते हैं क्या हैं ये 3 राशियां।

मेष राशि

एक सतत साम्राज्य बनना राजयोग आप लोगों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। क्योंकि शनि देव आपकी राशि से दसवें भाव में गोचर कर रहे हैं। जिसे व्यापार और नौकरी की कीमत माना जाता है। तो इस दौरान आपको शेयर बाजार में निवेश और सट्टे से अच्छा लाभ मिल सकता है। वहीं इस अवधि के दौरान आपको नई नौकरी का प्रस्ताव मिलने की भी संभावना है, तो आपकी पदोन्नति और वेतन वृद्धि भी हो सकती है। वहीं व्यापार में भी आपको अच्छा लाभ मिलने की संभावना है। वहीं इस दौरान आपको अपनी कार्यशैली में सुधार देखने को मिलेगा। ताकि कार्यस्थल पर आपकी तारीफ हो सके। आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल होंगे। इस समय आप नीले रंग का रत्न धारण कर सकते हैं, जो आपके लिए भाग्यशाली रत्न साबित हो सकता है।

मीन राशि

शनि ग्रह गोचर कर रहा है और अखंड साम्राज्य का राजयोग बना रहा है। जो लोगों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। क्योंकि शनि आपकी राशि से 11वें भाव में गोचर कर रहा है। जिसे आय और लाभ का स्थान माना जाता है। तो इस बार आपको अपनी आमदनी में अच्छा मुनाफा देखने को मिल सकता है। साथ ही इस दौरान आईके नए साधनों से धन कमाने में सफल होगा। वहीं आपके नए कारोबारी संबंध बन सकते हैं। जिससे आपको व्यापार में गति मिलेगी और आप इस समय अपने व्यापार में किसी नए सौदे को अंतिम रूप दे सकते हैं। जो इस बात की ओर इशारा करता है कि आपको भविष्य में अच्छा मुनाफा होगा। वहीं शेयर बाजार या लॉटरी में निवेश करने से आपको अच्छा लाभ मिल सकता है। इस समय आप वाहन और संपत्ति खरीदने का भी मन बना सकते हैं। इस समय आप लोग सोना या पुखराज धारण कर सकते हैं। जो आपके लिए लाभदायक रत्न साबित हो सकता है।

धनु राशि

आप लोगों के अच्छे दिनों की शुरुआत शनि के गोचर से हो सकती है। क्योंकि शनि देव आपकी गोचर राशि से दूसरे भाव में गोचर करने जा रहे हैं। जिसे ज्योतिष में धन और वाणी का अर्थ माना गया है। तो इस दौरान आपको अचानक से आर्थिक लाभ हो सकता है। इस समय आपको उधार लिया हुआ धन भी प्राप्त हो सकता है। व्यापार में अच्छा लाभ हुआ है। साथ ही आर्थिक स्थिति भी अच्छी रहेगी। अखण्ड साम्राज्य का राजयोग बनकर राजयोग प्राप्त कर सकते हैं।

 

+