आखिर कौन होगा बप्पी लाहिड़ी के सोने का मालिक? मीडिया रिपोर्ट्स ने किया खुलासा।

Bappi Lahiri and daughter बप्पी लाहिड़ी एक सिंगर के रूप में जाने जाते थे जो जब भी कोई कंसर्ट में जाते थे या कोई गाने की रिकॉर्डिंग करने जाते थे और गले से लेकर दोनो हाथो में ढेर सारा सोना पहेन कर जाते थे।

बप्पी दा अमरीकी पॉप स्टार एल्विस प्रेस्ली से काफी प्रभावित थे, प्रेस्ली भी अपने कॉन्सर्ट के चैन पहनते थे, बप्पी दा अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि वो मशहूर हो जाएंगे तो वो भी प्रिस्ली जैसी अपनी छवि बनाना चाहते हैं।

Bappi lahiri

इंडिया टुडे ने बप्पी लहरी के कुछ करीबी सूत्रों के हवाले से बताया कि बप्पी लहरी के पास ढेरो सोने और चांदी के गहने थे जिसे वह एक सुरक्षित किस में रखते थे जिसकी सफाई भी वह खुद ही किया करते थे।

बप्पी दा तो अब इस दुनिया में नहीं रहे मगर अब ये एक बड़ा सवाल है कि उनके गहने अब किसके पास रहेंगे।

 

बप्पी दा के लिए सोना अध्यात्म से जुड़ने का भी एक माध्यम था। उन्हें यह बिल्कुल भी पसंद नहीं था कि कोई भी उनके गहनों को छुए भी। वो इस बात से काफी प्रसन्न थे कि सोने से उन्होंने अपना एक सिग्नेचर लोग तैयार कर लिया है।

मीडिया रिपोर्टों के हवाले से पता लगा है कि बप्पी दा अपने गहनों की रखवाली के लिए एक असिस्टेंट और एक हेल्पर रखा हुआ था। बप्पी दा ने अपने सारे गहनों की लिस्टिंग कर रखी थी।

यह भी माना जाता है कि बप्पी दा को जोर रॉयल्टी मिलती थी वह उससे भी सोना खरीदते थे।

 

2014 में बप्पी लहरी ने चुनाव लड़ा था जिसमें उन्होंने खुद ही जानकारी दी थी कि उनके पास 754 ग्राम सोना और 2 किलो 640 ग्राम चांदी थी। और इन्हीं 7 सालों में इसमें इजाफा भी जरूर हुआ होगा तो माना जाता है कि बप्पी लहरी के पास करीब 1 किलो के आसपास सोना था।

बप्पी लाहिड़ी के पास कई सोने की चेन, पेंडेंट, ब्रेसलेट, अंगूठी, भगवान गणेश की मूर्ति, हीरा जड़ा हुआ ब्रेसलेट्स, गोल्ड फ्रेम्स, गोल्ड कफलिंक्स और गोल्ड का टीशेट है। जिसे लॉक्ड क्लोसेट और कबर्ड्स में रखा गया है। इन सबको अब संभाल कर रखा जाएगा।

 

मीडिया रिपोर्टों की माने तो उनके बेटा और बेटी ने अपने पिता के गहनों को संरक्षित करने का फैसला लिया है। वो अपने पिता कि लगेसी को संभाल के रखना चाहते है। बेटा दें कि बप्पी दा के पास कई हजार चश्मों और सनग्लासेस का कलेक्शन है जो कि अब उनके बच्चों के पास रहेगा।

+