जाने क्यों रक्त चंदन की जान जोखिम में डालकर की जाती है तस्करी

अल्लू अर्जुन की नई फिल्म को रिलीज हुए कुछ ही समय हुआ है इसका नाम पुष्पा है और यह फिल्म काफी सुपरहिट भी रही है इस फिल्म में अल्लू अर्जुन रश्मिका मंदाना के साथ नजर आ रहे हैं इस फिल्म में इनकी  एक्टिंग ने सब लोगों का दिल जीता है हर किसी को यह फिल्म काफी पसंद आई है जिन लोगों ने एक फिल्म देखी है उन सभी लोगों को पता है कि इस फिल्म की कहानी क्या है और इस फिल्म किस चीज की रैली गुम रही है जी हां यह फिल्म भारत के लाल सोने जाने की रक्त चंदन पर ही आधारित है इस फिल्म में पूरी तरह रक्त चंदन की खासियत उसकी कीमत और उसकी तस्करी के बारे में बताया गया है यह फिल्म हमें यह भी बताती है कि रक्त चंदन आंध्र प्रदेश के जिलों में पाया जाता है लकड़ी की बिक्री करोड़ों रुपए में होती है आज के समय में भी यह समस्या बनी हुई है कि किस तरीके से लाल चंदन की तस्करी को।

पुष्पा फिल्म और रक्त चंदन

इस फिल्म में दिखाया गया है कि किस कदर रक्त चंदन की लकड़ी भारत के बाहर तस्करी के जरिए बेचा जाता है इस रक्त चंदन की कीमत करोड़ों रुपए में बताई जाती है लाल चंदन की तस्करी में नेता बड़े बड़े कारोबारी माफिया भी शामिल होते हैं लेकिन लाल चंदन विलुप्त होने की कगार पर भी पहुंच चुकी है। अंतरराष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण में रक्त चंदन को विलुप्त होने वाली प्रजाति की श्रेणियों में रखा हुआ है। पूर्वी घाट पर रक्त चंदन को बचाया जा चुका है रक्त चंदन को 2008 में इस श्रेणी में डाला गया था पिछली तीन पीढ़ियों से इस चंदन की संख्या 50 से 80% तक गिर चुकी है।

और किसने करी चंदन की तस्करी

रक्त चंदन को शेषाचलम की पहाड़ियों में काफी बड़ी मात्रा में काटा जाता है क्योंकि रक्तचंदन पूरी दुनिया में सिर्फ इसी इलाके में मौजूद है जिस वजह से पेड़ों का सिर्फ 5% ही बच है। फिल्म में जो भी बात दिखाई गई है वह काफी हद तक सच है यह इलाका आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु की सीमा पर पड़ता है और यह सच है। डाकू वीरप्पन का नाम चंदन की तस्करी में सबसे ज्यादा कुख्यात बताया जाता है लेकिन उसके जाने के बाद भी यह समस्या वैसी की वैसी ही है लाल चंदन को ही रक्त चदन कहा जाता है सफेद चंदन में सुगंध होती है जिसे अगरबत्ती बनाने के काम में लिया जाता है लेकिन रक्त चंदन को शव और शतक संप्रदाय इस्तेमाल करते हैं रक्त चंदन की लकड़ियां लाल रंग की होती है जो कि देखने में बेहद आकर्षक होती हैं यह चंदन सफेद चंदन की तरह खुशबू नहीं देता। लेकिन इस चंदन की कीमत सफेद चंदन से अधिक होती है।

 

+