दिव्यांका ने किया खुलासा बङे ब्रेक के लिए लूठा जाता है

बॉलीवुड और टीवी इंडस्ट्री जितनी ही बाहर से रंगीन है उतनी ही अंदर से काली और रहस्यमय हैं। कास्टिंग काउच टीवी या बॉलीवुड के लिए एक नई बात नहीं है। इस रंगीन इंडस्ट्री के कई बड़े बड़े कलाकारों को इसका सामना करना पड़ता है। टीवी जगत के एक बहुत ही सक्सेसफुल अभिनेत्री दिव्यंका त्रिपाठी ने इस बात का खुलासा किया कि उनको भी कास्टिंग काउच का सामना करना पड़ा और कई लोग ऐसे भी हैं जो इसका फायदा उठाने की कोशीश करते हैं। दिव्यंका को इस बात का कोई आइडिया नहीं था कि इंडस्ट्री में ऐसा कुछ भी होता है उन्हें उनके करियर को बर्बाद करने की भी धमकी मिली थी लेकिन उन्हें इस बारे में पता चल गया कि यह सब एक दलदल है। दिव्यंका बताती हैं कि उनके माता पिता और उनकी बहन ही वो कारण हैं जिनकी वजह से उन्हें सही गलत में फैसला लेने में आसानी होती है।


बैंक और कास्टिंग काउच
बैंक के मुताबिक दिव्या बताती हैं जब किसी को उनका पहला ब्रेक मिलता है तो ऐसे कई सारे लोग होते हैं जो अलग अलग तरीके से उस व्यक्ति का फायदा उठाने की कोशीश करते हैं। ये ऐसा समय होता है जहाँ पर उस व्यक्ति को अपना दिमाग का इस्तेमाल करके चलना होता है वो बताती हैं कि कॉन्ट्रैक्ट ऐसे होते हैं की वो उस व्यक्ति को लूट लेते हैं और उस व्यक्ति को शुरुआत में पता भी नहीं चलता दिव्यंका बताती हैं कि शुरुआत में पता नहीं चलता कि कम पैसों में ज्यादा काम कराया जाता है।

कॉन्ट्रैक्ट और उनकी टर्म्स
दिव्यंका बताती हैं कि एक वक्त था जब उनके पास पैसे नहीं थे उन्हें अपने बिल उनकी ईएमआई और दूसरे खर्चे देने पड़ते थे और उन पर एक आर्थिक दबाव होता था। इसके बाद उन्हें एक ऑफर आता है कि उन्हें उस डायरेक्ट के साथ जाना पड़ेगा और उसके बाद उन्हें एक बड़ा ब्रेक मिल जाएगा। जब दिव्यंका ने पूछा कि मैं ही क्यों तो उनको बताया गया कि वे सच में एक बुद्धिजीवी हैं। दिव्यंका बताती हैं कि वे इन सभी बातों का खूब मज़ा लेती थी उन्हें पता था कि यह सब बकवास बातें हैं उन्होंने सब शुरू में ही देख लिया था। वे बताती हैं कि उन्हें उनके टैलेंट की वजह से उनका काम मिला और एक सिलसिला सा चलता चला गया।


दिव्यांका पर लगे शो से निकालने के आरोप
दिव्यांका ने बताया की उन्हें लेकर काफी सारी बातें फैलाई गई थी। जिनमें उनके बारे में यह कहा गया था कि वे बहुत नखरे करती है। उस समय दिव्यङ्गा के पास ऐसा कोई साधन नहीं था जिसकी मदद से वे अपनी बात रख सकें। वो ये भी बताती है कि आज का वक्त उस समय के वक्त से बहुत अलग हो चुका है आज सोशल मीडिया की वजह से वे अपनी बात कह सकती है। उस समय वे बताती हैं कि जब उन्होंने ये बातें बताने की कोशीश करें तब कोई सुनने वाला नहीं था। उनसे कहा जाता था कि वे बहुत नखरे करती है और उनके साथ कोई काम नहीं करना चाहता था ऐसा दिव्यांका ने सबको बताया।

+