जानिए ऐसा क्या किया रतन टाटा ने जो कहीं अरबपति करने से पहले 10 बार सोचते हैं

टाटा इंडस्ट्रीज के मालिक यानी की रतन टाटा आज किसी भी पहचान के मोहताज नहीं हैं इन्हें भारत का नाम पूरी दुनिया में ऊंचा कर रखा है। यह भारत के कुछ सबसे बड़े उद्योगपतियों में से एक है। रतन टाटा उन्हीं लोगों में से हैं जिनके कंधों पर भारत की शक्तिशाली अर्थव्यवस्था टिक्की हुई है। टाटा कंपनी उन कुछ कंपनियों में से एक है जो भारत की अर्थव्यवस्था को संभाले हुए हैं और उसे आकाश की तरफ ऊपर को लेके जा रही है।


भारतीय अर्थव्यवस्था
विश्व में यदि कहीं कोई सर्वे होता है दोस्त में यह देखा जा सकता है कि भारत दुनिया में अकेला ऐसा देश है जहाँ पे सबसे ज्यादा टैक्स दिया जाता है। भारत में जब भी अमीर व्यक्तियों की बात होती है तो उसमें सबसे पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक यानी की मुकेश अंबानी जी का नाम जरूर आता है और आना भी चाहिए क्योंकि वह भारत के कुछ सबसे बड़े उद्योगपतियों में से एक है जो कि सरकार को सबसे ज्यादा टैक्स भी देते हैं लेकिन ऐसा भी नहीं है खाली मुकेश अंबानी ही ऐसा करते हैं इस सूची में दूसरा नाम टाटा कंपनी के मालिक रतन टाटा जी का भी है वे जरूर देश के सबसे अमीर आदमी तो नहीं है लेकिन उनका रुतबा मुकेश अंबानी की तुलना में कम भी नहीं है। यदि एक आम भारतीय से बात की जाए तो वे यही बोलेंगे कि मुकेश अंबानी की तुलना में वे रतन टाटा की ज्यादा इज्जत करते हैं।आज के समय रतन टाटा सोशल मीडिया पर भी काफी ज्यादा एक्टिव रहते हैं सन टाटा ने कुछ ऐसे अद्भुत काम कर रखे हैं जो मुकेश अंबानी कभी कर ही नहीं सकते और रतन टाटा की जगह यदि कोई और उद्योगपति होता तो वह उद्योगपति उस काम को करने के बारे में कई बार सोचता।


महाराजा आया वापस
रतन टाटा जिन्हें एक ऐसा काम कर दिया जो कि उद्योगपति मुकेश अंबानी भी नहीं कर सकते। रतन टाटा को भारत में बहुत सम्मानित नजरों से देखा जाता है जिसके कारण उनकी दुनिया भर में काफी इज्जत की जाती है रतन टाटा हाल ही में सोशल मीडिया पर सुर्खियों में इसलिए आ गए थे क्योंकि उन्होंने एयर इंडिया को वापस से भारत सरकार से खरीद लिया था जिसे भारत सरकार ने जेआरडी टाटा को एयर इंडिया के बोर्ड से भी बाहर निकाल दिया था उसी भारत सरकार ने एयर इंडिया को वापस रतन टाटा को बेच दिया और ये खबर न केवल रतन टाटा के लिए खुशखबरी थी बल्कि हर उस व्यक्ति के लिए खुशखबरी थी जो कि एयर इंडिया और टाटा की समृद्धि देखना चाहते हैं।

 

+