अब मेट्रो जोड़ेगी देहरादून- हरिद्वार-ऋषिकेश को - Shubh Network

अब मेट्रो जोड़ेगी देहरादून- हरिद्वार-ऋषिकेश को

उत्तराखंड में मेट्रो का इंतजार कर रहे सभी लोगों के लिए यह सुखद खबर है। उत्तराखंड में मेट्रो निर्माण कार्य की तैयारी जोरों-शोरों से चल रही है। त्रिवेंद्र सरकार के इस महत्वाकांक्षी मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का काम 2024 तक पूरा होने की संभावनाएं जताई जा रही है। जी हां, 2024 तक उत्तराखंड को मेट्रो की सौगात मिल जाएगी। बता दें कि यह मेट्रो लाइन देहरादून-ऋषिकेश-हरिद्वार के क्षेत्रों को कवर करेगी और इस मेट्रो रूट का निर्माण 33 किलोमीटर के क्षेत्र में होगा। आने वाले कुछ सालों में देहरादून, ऋषिकेश और हरिद्वार के निवासियों को मेट्रो का उपहार मिल जाएगा और उनकी यात्रा और भी अधिक सुगम बन जाएगी। उत्तराखंड मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के एमडी जितेंद्र त्यागी का कहना है कि राज्य सरकार को मेट्रो रेल प्रोजेक्ट की डीटेल्ड रिपोर्ट भेज दी गई है। देहरादून, हरिद्वार और ऋषिकेश में मेट्रो चलाने की तैयारियां जोरों शोरों से की जा रही हैं और 2024 तक उत्तराखंड के हिस्से में मेट्रो की सौगात आ जाएगी।

आधुनिक समय में मेट्रो बेहद जरूरी है और यह समय की भी काफी बचत करती है। दिल्ली में मेट्रो मॉडल बेहद सफल रहा और अब दिल्ली के जैसे ही देश के कई हिस्सों में राज्य सरकारों ने निवासियों के लिए मेट्रो इंट्रोड्यूस की है। आधुनिकीकरण की राह पर चलते हुए उत्तराखंड में भी प्रदेश के निवासियों के समय की बचत के लिए और आधुनिक भारत के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने के लिए मेट्रो निर्माण कार्य पर सहमति जताई है ।आपको बता दें कि मेट्रो का निर्माण कार्य दो चरणों में पूरा किया जाएगा। पहले चरण में हरिद्वार से ऋषिकेश के बीच में मेट्रो लाइन बनेगी जिस को पूरा करने का लक्ष्य 2024 का रखा गया है और दूसरे चरण में नेपाली फार्म से देहरादून विधानसभा के बीच मेट्रो का प्रोजेक्ट शुरू किया जाएगा। हरिद्वार से ऋषिकेश तक 20 मेट्रो रेलवे स्टेशन का निर्माण होगा। पहले चरण की अनुमानित लागत 14 हजार करोड़ रुपए बताई जा रही है।

हरिद्वार से ऋषिकेश और देहरादून से नेपाली फार्म तक मेट्रो के विकास के साथ, कई व्यक्तियों को विकास में आवास मिलेगा। त्रिवेंद्र सरकार के आक्रामक मेट्रो रेल प्लॉट की प्राथमिक अवधि में, मेट्रो को हरिद्वार से ऋषिकेश तक लाया जाएगा और दूसरे चरण में नेपाली फॉर्म से देहरादून तक मेट्रो लाइन विकसित की जाएगी। दोनों मेट्रो लाइनें लगभग 73 किमी के क्षेत्र को कवर करेंगी। सार्वजनिक प्राधिकरण स्वीकार करता है कि 2024 तक मेट्रो रेल तैयार हो जाएगी। हरिद्वार, ऋषिकेश और देहरादून के व्यापारियों को भरोसा है कि मेट्रो पर काफी समय तक काम किया जाएगा। यह सामान्य है कि उन्हें सूचित किया जा रहा है कि आने वाले 4 वर्षों में उन्हें मेट्रो का एक और बंदोबस्त मिलेगा। हरिद्वार में मेट्रो की उपस्थिति इसी तरह खबरों के प्रकाश में है कि हरिद्वार उधम सिंह नगर के बाद दूसरा सबसे बड़ा यांत्रिक क्षेत्र है और हरिद्वार में कई लोग परिवहन और अन्य सार्वजनिक वाहन से यात्रा करते हैं। मेट्रो की उपस्थिति के साथ, इन व्यक्तियों को विकास की सादगी मिलेगी।

+