हिमस्खलन की चपेट में आए नौसेना के 4 जवान , त्रिशूल पर्वत पर हुआ भयानक हादसा................. - Shubh Network

हिमस्खलन की चपेट में आए नौसेना के 4 जवान , त्रिशूल पर्वत पर हुआ भयानक हादसा……………..

अभी हाल ही में यह खबर बहुत ही ज्यादा सनसनीखेज बनी हुई है की भारत के नौसेना के जवान उत्तराखंड के त्रिशूल पर्वत को फतह करने की खोज में थे और दुर्घटना के कारण वह सब हिमस्खलन की चपेट में आ गए और इस बेहद दर्दनाक घटना में 4 जवानों की उसी वक्त मृत्यु हो गई। जबकि उनमें से 2 जवान अभी भी लापता है जिसके लिए अभी भी खोज अभियान जारी है और यह पता लगाया जा रहा है कि आखिर वह सभी जवान है कहां।

इन दोनों में उत्तराखंड काम्या की एक बेटी भी है जिसे अभियान में शामिल किया गया था। इसमें से पांच जवान लापता बताए जा रहे हैं, जिनमें से चार जवानों के शव बरामद कर लिए गए हैं। यह शुक्रवार का दिन था, जब 20 सदस्यीय पर्वतारोहण अभियान में शामिल नौसेना के जवान हिमस्खलन की चपेट में आ गए थे। इसके बाद उनकी तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया। कश्मीर से ऊंचाई वाले खोज बचाव दल को भी बुलाया गया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लापता जवानों की मौत पर शोक जताया है|

सूत्रों के मुताबिक, जिन नौसेना कर्मियों की जान चली गई उनमें लेफ्टिनेंट कमांडर रजनीकांत यादव, लेफ्टिनेंट कमांडर योगेश तिवारी, लेफ्टिनेंट कमांडर अनंत कुकरेती और नाविक हरिओम शामिल हैं। तलाशी और बचाव अभियान चलाने के लिए एक बहु-एजेंसी टीम को तैनात किया गया था। टीम के अन्य सदस्य का बचाव व तलाश जारी है लेकिन अभी तक उनका कोई सुराग नहीं लग पाया है।

भारतीय नौसेना द्वारा दिए गए बयान में कहा गया है कि लापता नौसेना के पांच पर्वतारोहियों में से चार – लेफ्टिनेंट कमांडर रजनीकांत यादव, लेफ्टिनेंट कमांडर योगेश तिवारी, लेफ्टिनेंट कमांडर अनंत कुकरेती, हरिओम एमसीपीओ हैं। चमोली से तहलका और तह के जवानों के अवशेष मिले हैं। पांचवें नौसैनिक पर्वतारोही और एक शेरपा का पता लगाने के प्रयास जारी हैं। जवान की मौत पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शोक जताया है|

+