उत्तराखंड सरकार ने बढ़ाई आय प्रमाण पत्र की वैधता , अब एक साल तक नहीं कराना पड़ेगा रिन्यू

अगर आप उत्तराखंड में रहते हैं और सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए आय प्रमाण पत्र का उपयोग करते हैं तो आपके लिए बड़ी खबर है। उत्तराखंड सरकार ने आय प्रमाण पत्र को लेकर जनता को राहत देते आय प्रमाण पत्रों की वैधता को 6 महीने से बढ़ाकर साल भर कर दिया है। अब 6 महीने बाद आय प्रमाण पत्र को रिन्यू कराने की फजीहत से छुटकारा मिल जाएगा।

बता दें कि शासन ने सोमवार को आय प्रमाण पत्र की वैधता को बढ़ाते हुए आदेश जारी कर दिया है। सरकार ने ये आदेश लोगो को हो रही परेशानियों को देखते हुए लिया है। दरअसल सरकार के इस फैसले के बाद अब प्रदेश के लाखों परिवारों को बार-बार आय प्रमाण पत्र बनाने की परेशानी से निजात मिलेगी। शासन की ओर से आय प्रमाण पत्र की वैधता बढाने के संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं।

पहले आय प्रमाण पत्र की वैधता सिर्फ 6 माह थी। उसे हर 6 महीने में रिन्यू कराना आवश्यक होता है। लेकिन कोरोना काल में आय प्रमाण पत्र बनाने के लिए हर 6 महीने में तहसील के चक्कर काटना मुश्किल भरा हो रहा था। तो वहीं गरीब परिवारों के लिए सामान्य रूप से भी आय प्रमाण पत्र बनवाने के लिए कार्यालयों में धक्के खाने पड़ते थे। जनता को हो रही परेशानी को देखते हुए सरकार ने आय प्रमाण पत्र की समय सीमा को बढ़ाने का फैसला लिया।

आपको बता दें कि युवाओं से लेकर विभिन्न योजनाओं के लाभ लेने के लिए आय प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है। प्रदेश में आय प्रमाण पत्र की वैधता को 6 महीने रखा गया था, यानी आय प्रमाण पत्र बनने के बाद अब एक साल तक आय प्रमाण पत्र वैध होगा।

+