उत्तरकाशी के अजय की बनाई गोबर से बनी राखियों की बड़ी डिमांड, महानगरों में भी छाई - Shubh Network

उत्तरकाशी के अजय की बनाई गोबर से बनी राखियों की बड़ी डिमांड, महानगरों में भी छाई

22 अगस्त यानी कि कल रक्षा बंधन है। हर बहन इसके लिए तैयारियां कर रहा। बाजारों में रौनक है, रक्षाबंधन के लिए बाज़ारों में अलग अलग तरह की राखियां सजी हुई है। इन राखियों में सबसे ज़्यादा चर्चा में है गोबर की राखी। जिसे उत्तरकाशी के अजय प्रकाश बडोला ने बनाया है। उन्होंने इको फ्रेंडली राखियां तैयार की गई हैं। जो कागज या प्लास्टिक से नहीं, बल्कि गोबर से बनाई गई हैं।

बता दें कि इस साल भाइयों की कलाई पर विदेशी नहीं बल्कि जिले में बनाई गई गोबर की यह राखियां बांधी जाएंगी। ये राखियां अजय ने प्रयोग के तौर पर तैयार की थीं। इन राखियों में हमारी भारतीय संस्कृति का स्वरुप है। जो कि चाइनीज राखियों से कहीं ज्यादा बेहतर और सुंदर हैं। इन राखियों की मांग इतनी बढ़ गई है कि वह दिन-रात काम कर रहे है। गाय के बनी गोबर की ये राखी शुद्ध और सुंदर है। इन राखियों के साथ चावल भी रखे गए हैं।

राखियों की डिमांड जिले या उत्तराखंड में ही नहीं बल्कि मुंबई दिल्ली से भी आ रही है। ये राखियां देखने में बेहद खूबसूरत है। जिसे खासा पसंद किया जा रहा है। गाय के गोबर से बनी राखियों का विशेष महत्व है। जो भी यह राखी बांधेगा, उसके हाथ से ये राखी टच होगी उसको शान्ति मिलेगी। क्योंकि राखी बनाने में गोबर, तुलसी, गंगाजल, मौली धागा और हल्के रंगों का इस्तेमाल किया गया है। जिससे राखी आकर्षक नजर आए। एक प्रयोग के रूप में तैयार की गई ये राखियां जहां भाइयों के हाथ में सजने को तैयार है तो वहीं ये अच्छी आमदनी का जरिया भी बन गई है। अजय गोबर की राखी से अच्छा खासा कमा चुके हैं।

+