उत्तराखंड में मिला खतरनाक कोरोना डेल्टा प्लस वैरिएंट का पहला मरीज, स्वास्थ्य सचिव ने कोर्ट को बताया

उत्तराखंड में जहां कोरोना का कहर कम हो गया। जिंदगियां पटरी पर आना शुरू ही हुई थी । लोग अपनो का गम भूल ही रहे थे  कि अब एक बड़ी खबर सामने आई है। उत्तराखंड में  खतरनाक कोरोना डेल्टा प्लस वैरिएंट का पहला मरीज मिला है। इस बात की पुष्टि स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी ने की है। बता दें कि ये वैरिएंट कोरोना से ज्यादा खतरनाक है। और शरीर पर गंभीर प्रभाव छोड़ता है।

मामले का खुलासा कोर्ट में सुनवाई के दौरान हुआ है। गौरतलब है कि सरकार चारधाम यात्रा खोलना चाहती है जबकि हाईकोर्ट इसकी मंजूरी नहीं दे रहा है। कुंभ के कारण उमड़ी भीड़ और कोरोना जांच फर्जीवाड़ा और सरकार की लापरवाहियों पर कोर्ट सख्त है। बता दें कि नैनीताल हाइकोर्ट में चारधाम यात्रा और बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर जनहित याचिकाओं की सुनवाई चल रही है।

मामले में बुधवार को सुनवाई हुई जिसमें सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस आरएस चौहान ने NCDC दिल्ली को भेजे गए सैंपल्स के बारे में पूछा।कोर्ट के सवाल पर स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी ने चौकाने वाला खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि NCDC ने जानकारी दी है कि एक केस डेल्टा प्लस वैरिएंट का उत्तराखंड में पाया गया है। जिससे स्वास्थ्य विभाग सकते में है। मरीज का इलाज चल रहा है।

आपको बता दें कि डेल्टा प्लस वैरिएंट को ही कोविड की तीसरी लहर का कारक माना जा रहा है। जो तीसरी लहर के रूप में मानव जीवन पर एक खतरा बनकर कहर बरपा सकता है। शुरुआत में बुजुर्ग लोग डेल्टा वैरिएंट की चपेट में आए, लेकिन अब लगता है कि बाकी आबादी पर इसका खतरा मंडरा रहा है।हाल ही में उधमसिंह नगर से 30 संदिग्ध सैंपल दिल्ली जांच के लिए भेजे गए थे। जिसमें एक पॉजिटिव केस मिला है।

 

+