उत्तराखंड के पहाड़ी आलू की अमेरिका में बढ़ी डिमांड, नैनीताल से किया जा रहा ट्रांसपोर्ट - Shubh Network

उत्तराखंड के पहाड़ी आलू की अमेरिका में बढ़ी डिमांड, नैनीताल से किया जा रहा ट्रांसपोर्ट

आलू दुनिया में सबसे ज्यादा लोकप्रिय और सबसे ज्यादा प्रयोग की जाने वाली सब्जी है। इसे सब्जियों का राजा भी माना जाता है। वैसे तो आलू पूरी दुनिया में उगाया जाता है, लेकिन इसका मूल स्थान दक्षिण अमेरिका है। भारत में यह 16वीं शताब्दी के आसपास पुर्तगालियों द्वारा लाया गया। आज वहीं आलू उत्तराखंड से अमेरिका में मंगवाया जा रहा है।

बता दें कि पहाड़ी आलू सिर्फ पहाड़ियों की ही नहीं बल्कि अब विदेशियों की भी पसंद बन रहा है। उत्तराखंड के नैनीताल में होने वाला आलू  कई राज्यों में अपनी पहचान बना चुका है। यहां के आलू की डिमांड देश की अन्य मंडियों में भरपूर मात्रा में की जाती है।अब तो नैनीताल के आलू की पहचान अमेरिका में भी बन रही है। यहां भारतीय कम्युनिटी के लोग इसको बहुत पसंद कर रहे हैं। हल्द्वानी मंडी में पहाड़ के आलू व्यापारी नवीन पाठक ने एक क्विंटल आलू अमेरिका के पेंसिलवेनिया माउंटेन टॉप को भेजा है।अमेरिका में रहने वाले एनडी गुप्ता की डिमांड पर इसी सप्ताह ट्रांसपोर्ट के माध्यम से एक क्विंटल आलू अमेरिका भेजा गया है।

आपको बता दें कि नैनीताल जनपद के ओखलकांडा, धारी, रामगढ़ के इलाकों में अधिक मात्रा में आलू की पैदावार होती है। यहां के काश्तकारों का आलू उत्पादन मुख्य रोजगार का संसाधन है। जून माह से लेकर अक्टूबर माह तक यहां पर आलू की भरपूर पैदावार होती है. इन दिनों हल्द्वानी मंडी से रोजाना 20 से 25 गाड़ियों के माध्यम से करीब 250 टन आलू रोजाना देश की अलग-अलग मंडियों में जा रहा है. जहां किसानों को अपने आलू की कीमत ₹15 से लेकर ₹20 किलो तक मिला है। आलू हर किसी  की पसंद है और यह पोष्टिक तत्वों से भरपूर है।

+