उत्तराखंड का जवान सरहद पर शहीद, माता-पिता की इकलौती संतान थे मनदीप, जल्द होनी थी शादी - Shubh Network

उत्तराखंड का जवान सरहद पर शहीद, माता-पिता की इकलौती संतान थे मनदीप, जल्द होनी थी शादी

उत्तराखंड का एक और लाल मातृ भूमी की रक्षा करते हुए अपनी मां को हमेशा के लिए छोड़ गया है। पौड़ी के मनदीप सिंह नेगी जम्मू कश्मीर के गुलमर्ग में दुश्मनों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए है। उनकी शहादत की खबर से उत्तराखंड में शोक की लहर दौड़ पड़ी। मां-बाप का रो-रोकर बूरा हाल है।

बता दें कि पौड़ी जनपद के पोखड़ा ब्लॉक के अंतर्गत सकनोली गांव के रहने वाले मनदीप सिंह नेगी की शहादत की सूचना के बाद से पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है। मनदीप महज 23 साल के थे और अपने माता पिता की इकलौती संतान थे।उनकी जल्द ही शादी होने वाली थी। लेकिन अब वह बारात ले जाने के बदले तिरंगे में लिपट कर आएंगे। उनकी शहादत से जहां एक और सब को उनपर गर्व है तो वहीं हर आंख नम भी है।

आपको बता दें कि मनदीप सिंह 11वीं गढ़वाल राइफल्स के जवान थे। वह 20 साल की उम्र में थल सेना का हिस्सा बन गए थे।  इन दिनों वह अपनी सेवा जम्मू कश्मीर के गुलमर्ग इलाके में दे रहे थे। मात्र 23 साल की कम उम्र में ही देश पर कुरबान हो गए है। शहीद के पिता सतपाल सिंह नेगी गांव में किसानी का काम किया करते हैं, जबकि शहीद की माता हेमंती देवी गृहणी हैं ।

शहीद का पार्थिव शरीर कल हवाई मार्ग से कश्मीर से देहरादून के लिए रवाना होगा और फिर बाई रोड़ चौबट्टाखाल विधानसभा क्षेत्र के सकनोली गांव लाया जाएगा। वहीं शहीद मनदीप सिंह नेगी की शहादत की सूचना पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने भी गहरा दुःख व्यक्त किया है।

+