गर्व के पलः उत्तराखंड के हर्षित त्रिपाठी और परिणिता कापरी बने लेखक, छोटी उम्र में लिखी अपनी किताब

उत्तराखंड के बच्चे देश में अपना और प्रदेश का नाम रोशन कर रहे है। खेल के मैदान से आगे बढ़ अब प्रदेश के बच्चे लेखक बनने की और भी कदम बढ़ा चुके है। नैनीताल के हर्षित त्रिपाठी और परिणिता कापरी ने ऑनलाइन पढ़ाई के साथ-साथ अपनी पहली पुस्तक प्रकाशित कर अपना सपना साकार कर दिखाया है। बच्चों की इस कामयाबी से उनके स्कूल और परिवार में खुशी की लहर है। और सब ही उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते है।

बता दें कि दोनो ही बच्चे हल्द्वानी स्थित आर्यमान विक्रम बिड़ला इंस्टिट्यूट ऑफ लर्निंग स्कूल में पढ़ते है।  हर्षित त्रिपाठी कक्षा 12 और  परिणिता कापरी कक्षा 10वीं  की छात्रा है। दोनों ने अंग्रेजी में एक पुस्तक लिखी है। विज्ञान वर्ग के छात्र हर्षित त्रिपाठी ने ‘इलेप्सड’ नाम की एक पुस्तक लिखी है।  ये पुस्तक एक किशोर की काल्पनिक कहानी पर आधारित है। किशोर जीवन में अपने द्वारा की गई गलतियों से काफी कुछ सीखता है ।

तो वहीं छात्रा परिणीता कापरी ने ‘अ परफेक्टली इंपरफेक्ट विजिट’ नाम की पुस्तक लिखी है। ये पुस्तक उनकी स्मृति और कल्पना पर आधारित है, इस पुस्तक में शहर और गांव की लड़की के, एक दूसरे के जीवन को जीने की लालसा का जिक्र किया गया है, दोनों छात्रों की पुस्तकों को नोशन प्रेस द्वारा प्रकाशित किया गया है और दोनों के ही पेपरबैक और ऑनलाइन संस्करण उपलब्ध हैं।

दोनो ही बच्चे आगे बढ़कर एक सफल लेखक बनना चाहते है। दोनों छात्रों की इस उपलब्धि से स्कूल प्रशासन और परिजन काफी खुश हैं। वहीं, दोनों छात्रों के परिजनों ने दोनों के उज्जवल भविष्य की कामना की है।

+