गौरव का क्षणःजब बेटे ने पहनी सेना की वर्दी,तो हवलदार पिता ने किया अफसर बेटे को सैल्यूट, हर आंख हुई नम - Shubh Network

गौरव का क्षणःजब बेटे ने पहनी सेना की वर्दी,तो हवलदार पिता ने किया अफसर बेटे को सैल्यूट, हर आंख हुई नम

उत्तराखंड के कई जाबांजों ने देश पर जान न्योछावर करने की शपथ खाई । जब आईएमए में कदम ताल करते जवानों के कदम लोगों में देशभक्ति की उमंग भर रहे थे तो वहीं कई जवानों के अपनों के सपने पूरे हो रहे थे। जवानों की वर्दी पर इधर सितारे लगाए जा रहे थे तो उधर उनके अपनों की आंखों में खुशी के आंसु थे। इस वक्त कई ऐसे क्षण थे जो भुलाए नहीं जा सकते । इन्ही जवानों में शामिल थे उत्तरकाशी के सुमित…।

मूलत: मानपुर, भटवाड़ी, उत्तरकाशी निवासी सुमित ने इसी वर्ष 10वीं गढ़वाल राइफल से हवलदार पद से सेवानिवृत्त हुए जयप्रकाश भट्ट और तामेश्वरी भट्ट को जो खुशी दी उसे देख हर किसी की आंखे नम हो गई।

हवलदार पिता के सामने जब उनका बेटा सुमित सैन्य अफसर की वर्दी में पहुंचा तो वो अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख सके। बेटे को सैल्यूट किया और फफक पड़े। उन्होंने कहा कि किसी भी पिता के लिए इससे बड़े गौरव का क्षण नहीं हो सकता कि वो अपने अफसर बेटे को सैल्यूट करे। ये वो पल था जिसे वह जिंदगी भर भूलना नहीं चाहेंगे।

बता दें कि सुमित के पिता जयप्रकाश हमेशा चाहते थे कि उनका बेटा सेना में अफसर बने। और वो अपने बेटे को सैल्यूट करें। अब सुमित को 3/8 गोरखा राइफल्स में तैनाती मिली है। सुमित ने न सिर्फ अपने मां बाप का बल्कि अपने दादा का सपना भी पूरा किया है।सुमित के दादा सुरेंद्र प्रसाद भट्ट हमेशा चाहते थे कि उनका पोता भारतीय सेना में अफसर बने।

बता दें कि सुमित ने 2015 में उत्तरकाशी से हाईस्कूल किया है इसके बाद उन्होंने केवी ओएनजीसी से 11वीं व 12वीं की पढ़ाई की। बचपन से ही बेहद कुशाग्र बुद्धि के सुमित ने पहले ही प्रयास में एनडीए में सफलता हासिल कर ली।

+