उत्तराखंड में 50 हजार पर्यटन कारोबारियों को मिलेगें पांच-पांच हजार, सरकार ने दी सौगात

कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर में नुकसान उठाने वाले पर्यटन कारोबार से जुड़े करीब 50 हजार कर्मचारियों को प्रदेश सरकार 2500 रुपये प्रति माह के हिसाब से दो महीनों की पांच हजार रुपये की आर्थिक सहायता सीधे उनके खाते में पहुंचाएगी ।

प्रदेश में पर्यटन कर्मचारियों को सरकार ने आर्थिक राहत की ऑक्सीजन दी है । उन्हें 2500 रुपये प्रति माह के हिसाब से दो मह की पांच – पांच हजार रुपये की मदद दी जाएगी । बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में पर्यटन कारोबार के प्रभाव पर मंथन हुआ।कोरोना की पहली लहर में प्रदेश के 37,870 कार्मिकों को आर्थिक मदद दी गई थी । इस बार 50 हजार कार्मिकों को पांच – पांच हजार रुपये की मदद दी जाएगी । इसी प्रकार , प्रदेश में पंजीकृत 352 टूर ऑपरेटरों को सरकार दस – दस हजार रुपये की मदद देगी । एडवेंचर टूर ऑपरेटरों की परेशानी को भी सरकार ने समझा है।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की अध्यक्षता में हुई प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला लिया गया है । प्रदेश सरकार के शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने बताया कि कैबिनेट में विभिन्न विभागों के 14 प्रस्तावों को मंजूरी दी गई । उनके मुताबिक कोविड प्रभाव में पर्यटन उद्योगों के नुकसान की भरपाई के लिए 28.99 करोड़ की आर्थिक सहायता देने का निर्णय हुआ । सरकार पंजीकृत टूर और एडवेंचर ऑपरेटरों व राफ्टिंग गाइडों को प्रति फर्म 10 हजार रुपये प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण ( डीबीटी ) के माध्यम से देगी । वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली होम स्टे योजना में पहली अप्रैल से 30 सितंबर तक ऋण लेने प्रतिपूर्ति की जाएगी । राफ्टिंग , एयरोस्पोर्टस लाइसेंस नवीनीकरण छूट मिलेगी ।

 

 

+