उत्तराखंड में पटाखे जलाने के लिए गाइडलाइन जारी

जिस बात का इंतजार किया जा रहा था, आखिरकार वो गाइडलाइन आ चुकी है। उत्तराखंड में दिवाली पर आतिशबाजी के लिए गाइडलाइन जारी कर दी गई है। आपको बता दें कि पहले नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल यानी NGT द्वारा इस बात के निर्देश दिए गए थे।

इसके बाद उत्तराखंड में पटाखे जलाने के लिए गाइडलाइन जारी की गई है। इस गाइडलाइन के मुताबिक उत्तराखंड के 6 शहरों में दिवाली पर केवल ग्रीन पटाखे ही जलाए जा सकेंगे। इसके लिए भी समय भी तय किया गया है। अगर इन 6 शहरों में नियम तोड़े तो कार्रवाई होगी। साफ तौर पर कार्रवाई के की चेतावनी दी गई है। गाइडलाइन के अनुसार राजधानी देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश, रुद्रपुर, काशीपुर और हल्द्वानी में केवल ग्रीन पटाखे ही जलाए जा सकेंगे। आगे जानिए पटाखे जलाने का वक्त

दीपावली और गुरुपर्व पर रात 8 बजे से रात 10 बजे तक ग्रीन स्पार्कलर जलाए जाएंगे। छठ पूजा पर, सुबह 6 बजे से सुबह 8 बजे तक केवल दो घंटे के लिए फुलझड़ियाँ बुझाई जा सकती हैं। राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने देहरादून में दो और नए जाँच स्टेशन खोले हैं। ऐसी स्थिति में, अब राजधानी के पूरे पांच चेकिंग स्टेशनों से संदूषण का अवलोकन किया जा सकेगा। पहले देहरादून में 3 अवलोकन स्टेशन थे।

स्थानीय अधिकारियों ने 7 से 21 नवंबर तक संदूषण स्तर में समायोजन की आइटमों को संशोधित करने का अनुरोध किया है। राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड पर्यावरण अभियंता डॉ। अंकुर कंसल ने कहा कि घंटाघर और नेहरू कॉलोनी स्थित क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के कार्यस्थल में दो चेकिंग स्टेशन खोले गए। । चला गया। इसके अलावा, आईएसबीटी, राजपुर जैसे क्षेत्रों में संदूषण की जाँच की जा रही है।

+